अल्लाह औ ईश्वर

मेरे यहाँ एक नया नया मन्दिर खुला है,नाम हालांकि प्राचीन रखा है।लालची लोग आएं जल्दी – जल्दीमन्दिर को प्राचीन बनाये जल्दी – जल्दीइसलिए भंडारा सुबह-शाम चला रखा है। लालची लोग जाते हैं कुछ मांगनेऔर देकर आ जाते हैं यह भी नहींविचारते जिससे खुद मांगने जा रहे हैंउसे भला क्या दे

Read More

मैं लिखूं के ना लिखूं

मैं लिखूं के ना लिखूं , मुझपर दबाव है किमैं उनके हक में लिखूंमेरी कलम सदा विरोध। मैं लिखूं के ना लिखूं ,क्या चुप हो जाऊंमान लूं इसे खुदा फरमानजिये जाऊं चुपचाप। मैं लिखूं के ना लिखूं ,मुझे डर है कहीं देखमेरे शब्द समझ जाएंमेरे भीतर के डर को। मैं

Read More

चूड़ियाँ भी अपनी हद जानती हैं

चूड़ियाँ भी अपनी हद जानती है रंगों का भी मतलब जानती है  कलाई का फर्क जानती है नीली,पीली,हरी,गुलाबी, नारंगी रंगों की होती है चूड़ियाँ  पर इसमें लाल रंग जो है न  वो चूड़ी होने से पहले  अपने रंग की कद्र जानता है अपने रंग की हद जानता है ये नाजुक

Read More

संतुष्ट है भारत

मैं चाहती थी एक कविता लिखना पर वो शब्द आते नहीं मेरे ज़हन में जो बयां कर सके उन संवेदनाओ को, जो महसूस होती हैं उन हर एक माता-पिताओं को, जिनके नोनिहालों ने ऑक्सीजन की कमी से तोड़ दी थीं सांसे, छोड़ दिया था शरीर, और चले गए इस दुनिया

Read More

उसे मेरी याद तो आती होगी

उसे मेरी याद तो आती होगी जब चाँद की आग़ोश में सूरज छुप जाता होगा  नदी की घाट से हर शख्स़ घर को लौट जाता होगा  रेत पर लिखा हर नाम, मिट जाता होगा  उसकी परछाई भी लम्बी हो जाती होगी  हर रोज छत पर शाम जो आती होगी  उसे

Read More

बीती यादों को लेकर

बीती यादों को लेकर ही मत जियो मरो.. आगे और भी लोग आएंगे.. जिन पर तुम्हारा दिल आएगा जो बीत गयी सो बात गयी  अब बात कुछ करो नई पुराने में रखा क्या है  अपना तो हर पल नया है  जो सामने है उसे स्वीकार करो  जो चला गया उसे

Read More

आप भी…

आप भी इस देश की संतान हैं , किसने आपको पथभ्रष्ट किया है , या स्वयं ही भूल गए हो , आखिर तो आप भी इंसान हैं। किस चाह से हो लड़ रहे , क्यों नफरतें फैला रहे , लोगों में डर बैठा रहे , क्या यही ईमान हैं। दबा

Read More

डॉ पायल तड़वी का गुनाह क्या था..?

यही की वह महाराष्ट्र के #आदिवासी परिवार से थी। नेशनल मेडिकल कॉलेज में पोस्ट ग्रेजुएट (एम.डी.) की  पढाई कर रही थी..!!कॉलेज की कुछ सीनियर, तुच्छ मगजी सवर्ण महिलाओ ने…जाति के नाम पर डॉ पायल तड़वी को प्रताड़ित करना शुरू कर दिया। व्हाटसअप ग्रुप में उसकी जाति को लेकर मजाक उड़ाया

Read More

तुम्हारे जाने के बाद —-

हाँ मैंने रोया बहुत, तुम्हारे जाने के बाद  कई रात नहीं सोया, तुम्हारे जाने के बाद  हमने बहुत कुछ खोया तुम्हारे जाने के बाद बड़ी मुश्किलों से खुद को संजोया, तुम्हारे जाने के बाद  सब कुछ बहुत याद आता है, तुम्हारे जाने के बाद ॥     मैं जो तुमसे

Read More

हर पल तुम्हें याद करती हूँ…

हर पल तुम्हें याद करती हूँ,  क्यौं तुमसे इतना प्यार करती हूँ।  तुम दर्द इतना देते हो,   हर साँस में मुझको  फिर क्यों ये जिंदगी ,  मैं तुम्हारे नाम करती हूँ।  तुम काला साया हो,  मैं धूप हूँ सुबह की फिर क्यों तुम्हारी कालिमा में , खुद मैं ढलती हूँ। 

Read More